Akshay Tritya 2022: अक्षय तृतीया का पर्व आज, जाने पूजा विधि और मुहूर्त

0
56

Akshay Tritya 2022: आज पूरे देश में ‘अक्षय तृतीया'(Akshay Tritiya) का पर्व पूरे जोश और श्रद्धा के साथ मनाया जा रहा है। काशी के गंगा घाट पर आस्था की डुबकी लगाने के लिए सुबह से ही भक्तों का तांता लगा हुआ है।

ऐसा माना जाता है कि आज के दिन जो भी काम किए जाते हैं उसका क्षय नहीं होता है और इसी कारण लोग आज सारे शुभ और मंगल कामों को करने की कोशिश करते हैं। आज अबूझ मुहूर्त होता है और इस कारण आज शादी और गृह प्रवेश जैसे शुभ काम किए जाते हैं।

अक्षय तृतीया पर इन चीजों का दान करना होता है शुभ(Akshay Tritiya)

हिंदू धर्म में ऐसी मान्यता है कि किसी भी व्यक्ति जिसे मदद की जरूरत है उसे देवता व पितरों के नाम से जल, कुंभ, शक्कर, सत्तू, पंखा, छाता फलादि का दान करना चाहिए. ऐसा करना बहुत ही शुभ फलदायी होता है. ऐसा करने से लक्ष्मी माता बहुत खुश होती हैं और भक्त के घर में मां लक्ष्मी स्वयं चलकर आ जाती हैं. इस दिन जल से भरा हुआ घड़ा, शक्कर, गुड़, बर्फी, सफेद वस्त्र, नमक, शरबत, चावल, चांदी का दान भी किया जाता है.

पितरों का करें प्रसन्न

आज के दिन देवता व पितरों के नाम से दान देने पर अक्षय पुण्य लाभ की प्राप्ति होती है और महालक्ष्मी प्रसन्न होती हैं. इसी दिन अर्थात अक्षय तृतीया के दिन दस महाविद्या में नवमी महाविद्या मातंगी देवी का प्रार्दुभाव हुआ था.

पितृदोष दूर होता है

इस दिन पूजा करते समय भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की प्रतिमा पर अक्षत चढ़ाना चाहिए. इससे पितृदोष से मुक्ति मिलती है. इसके अलावा पितृदोष निवारण के लिए पितरों को तर्पण देना बहुत लाभदायक होता है. इस दिन पितरों के नाम से पिंडदान करने से पितरों का आशीर्वाद प्राप्त होता है.

मां अन्‍नपूर्णा का जन्‍म(Akshay Tritiya celebration motive)

यही नहीं आज के दिन मां अन्‍नपूर्णा का जन्‍म हुआ था और आज ही के दिन मां गंगा धरती पर अवतरित हुई थीं,इसी कारण आज के दिन का काफी महत्व है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here