महिलाओं को अलग मेन्यू कार्ड देना होटल को पड़ा महंगा, 44 लाख का लगा जुर्माना

आपने अक्सर देखा होगा कि आप जब भी किसी रेस्टोरेंट में खाना खाने जाते हैं, तो सबसे पहले आपको मेन्यू कार्ड दिया जाता है। लेकिन, क्या कभी आपने ये सोचा है कि कोई होटल अगर ऐसा हो कि वहां महिलाओं के लिए मेन्यू कार्ड अलग हो और पुरुषों के लिए अलग तो क्या होगा। नहीं ना, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि ऐसा करने से एक होटल पर 44 लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया है।

0
102

नई दिल्ली: आपने अक्सर देखा होगा कि आप जब भी किसी रेस्टोरेंट में खाना खाने जाते हैं, तो सबसे पहले आपको मेन्यू कार्ड दिया जाता है। लेकिन, क्या कभी आपने ये सोचा है कि कोई होटल अगर ऐसा हो कि वहां महिलाओं के लिए मेन्यू कार्ड अलग हो और पुरुषों के लिए अलग तो क्या होगा। नहीं ना, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि ऐसा करने से एक होटल पर 44 लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया है।

जी हां, दरअसल पेरू की राजधानी लीमा में ‘ला रोजा नौटिका’ नाम का एक रेस्टोरेंट है। यहां महिलाओं के लिए नीले रंग का मेन्यू कार्ड है और महिलाओं के लिए सुनहरे रंग का मेन्यू कार्ड है और खास बात ये कि सुनहरे रंग के कार्ड में डिश की कीमत नहीं लिखी गई है।

ये भी पढ़ें- ये है दुनिया की ‘रेड लेडी’, लाल रंग से इतना प्यार कि बाल से लेकर घर की हर चीज है लाल

इसके पीछे होटल का तर्क ये है कि जब महिलाएं पुरुष के साथ आती हैं तो उनका बिल पुरुष देते हैं। ऐसे में महिलाओं को डिश की कीमत देखने की कोई जरूरत नहीं है, लेकिन अब होटल के इस तर्क को पेरू प्रशासन ने बेतुका करार दिया है।

इस मामले की सुनवाई नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर द डिफेंस ऑफ फ्री कंपीटिशन एंड प्रोटेक्शन ऑफ इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी में हुई, जिसके बाद होटल पर 62 हजार डॉलर यानी करीब 43.96 लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया है और होटल के इस रवैये को महिलाओं के साथ भेदभाव माना गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here