8500 किमी पैदल चलकर जा रहे हैं हज, कई देश पार कर 2023 तक पहुंचेगे मक्का: Shihab Chottur

0
92

Shihab Chottur’s Walk: दिल में हौंसला और जूनून लिए शिहाब पैदल ही बढ़े चले जा रहा मक्का की तरफ। ये बात है अब से कुछ दिन पहले की जब शिहाब चित्तुर (Shihab Chottur) नाम के शख्स ने पैदल चलकर हज जाने का इरादा बना लिया है। जुलाई 2022 को इसी जूनून के साथ वह घर से मक्का के लिए हैं और कई राज्यों को पार करते हुए राजस्थान तक पहुँच चुके हैं। शिहाब (Shihab Chottur) रोज़ाना लगभग 25 किमी पैदल चलकर सफर कर रहे हैं।

उनका लक्ष्य 2023 के हज के समय हज करना है। इसीलिए वे अब निकल चुके हैं और 8 महीने बाद मक्का पहुंचेंगे। भारत का बॉर्डर पार कर सबसे पहले वे पाकिस्तान पहुंचेंगे फिर पाकिस्तान (Pakistan) से ईरान (Iran), इराक (Iraq), कुवैत (Kuwait) होते हुए सऊदी अरब (Saudi Arab) के मक्का (Mecca) शहर में पहुँच जाएंगे।

शिहाब का कहना है कि उन्हें पैदल हज यात्रा जाने के लिए परमिशन लेने में लगभग 6 महीने लगे थे। उन्होंने हार नहीं मानी दिल्ली के दूतावास के चक्कर लगाते रहे अंत में इजाज़त ले ली।

पैदल हज को लेकर उन्होंने कहा कि ये मेरी बचपन की इच्छा थी जो अब पूरी होने जा रही है। सोशल मीडिया (Social Media) पर पल पल की खबर दी जा रही है। वे जिस भी जिले से होकर गुज़र रहे हैं लोग उनका खूब ज़ोर-शोर से स्वागत कर रहे हैं और कई किलोमीटर तक उनके साथ पैदल चलकर हौंसला बुलंद कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर आप देख सकते हैं कि मौजूदा लोकेशन कहाँ है वे इस समय कहाँ मौजूद हैं।

हौंसला बुलंद कर रहे लोग

उनकी सुरक्षा को लेकर प्रशासन भी सख्त है। जिस भी जगह से होका गुज़र रहे हैं स्थानीय पुलिस उनके साथ चल रही है भारत में उनकी सुरक्षा और सेहत का ख्याल रखने के लिए एक एम्बुलेंस भी साथ चल रही है। जिससे उनको कोई दिक्कत न हो। शिहाब ने जिस तरह से उम्मीद की थी लोग रास्ते में उनकी मदद करेंगे लेकिन उससे कहीं ज्यादा लोग उनकी मदद कर रहे हैं।

शिहाब का परिवार

शिहाब से एक मध्यम परिवार से ताल्लुक रखते हैं। शिहाब पेशे से एक डॉक्टर हैं और ग्रेजुएट हैं। उनकी उम्र फिलहाल 29 साल है। इनकी परिवार की बात की जाए तो उपलब्ध जानकारी के अनुसार इनकी शादी हो चुकी है और इनके बच्चे भी हैं। इनकी परिवार में और कौन-कौन है इसकी जानकारी अभी उपलब्ध नहीं है। शिहाब चित्तुर (Shihab Chottur) के इंस्टाग्राम पर रोज़ाना हज़ारों के हिसाब से फॉलोवर बढ़ रहे हैं। उनके इंस्टा अकाउंट को भी वेरीफाई कर दिया गया है।

21वीं सदी के इतिहास पहला व्यक्ति

21वीं सदी के इतिहास में कोई व्यक्ति पहली बार पैदल मक्का का सफर कर रहा है। वे लगभग 8500 किमी का सफर तय कर रहे हैं। इससे पहले जब आने जाने के साधन नहीं होते थे तब लोग पैदल यात्रा करते थे। फिर पानी के रास्ते जहाज से जाने लगे जैसे-जैसे साधन उपलब्ध होते गए लोग अपनी सुविधानुसार जाते रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here