कार की छत फाड़ अंदर घुसा पत्थर, हो गई बैंक मैनेजर की मौत

मध्य प्रदेश के बैतूल में एक अजीब घटना सामने आई है, जिसमें एक बैंक मैनेजर की मौत हो गई। नेशनल हाईवे पर अपनी कार से सफर कर रहे बैंक मैनेजर को...

0
1191
हवा में उड़ा पत्थर और कार की छत फाड़कर अंदर घुसा, हो गई बैंक मैनेजर की मौत

नई दिल्ली। बैतूल के इंडसइंड बैंक के मैनेजर अशोक वर्मा (45) बैतूल से मुलताई कार ड्राइव करते हुए जा रहे थे। सड़क किनारे क्रशर में हुए विस्फोट से एक पत्थर उछलकर उनकी कार की छत को तोड़ता सिर पर आ गिरा। अशोक की मौत मौके पर ही हो गई। गाड़ी में दो और लोग थे जो घायल हो गए। गाड़ी में अशोक के साथियों की मानें तो पत्थर जब कार से टकराया तो आवाज इतनी तेज थी कि मानो बंदूक चली हो।

अशोक के दोस्त जितेंद्र सोनारे ने कहा कि हम मारुति 800 से मुलताई के लिए जा रहे थे। हमने एक जोरदार बंदूक की आवाज सुनी और सेकंड भर में एक पत्थर कार की छत से टकराया और अशोक के सिर पर गिरा। कार ने संतुलन खो दिया और मैं किसी तरह कार को रोकने में सफल रहा लेकिन वह मौके पर ही मर गया।

ये भी पढ़ें: प्रधानमंत्री की भतीजी के साथ हुई वारदात, गुजरात पुलिस ने यूं दिखाई मुस्तैदी…

मामला पुलिस तक पहुंचा। पुलिस ने बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद बॉडी घरवालों को दी जाएगी। पुलिस को शक है कि क्रशर में भारी विस्फोटक का इस्तेमाल किया गया है क्योंकि पत्थर करीब 600 मीटर दूर आकर फोरलेन रोड पर गिरा है। शुरुआती जांच में क्रशर संचालक की लापरवाही सामने आई है। जांच में क्रशर संचालक के दोषी पाए जाने पर कारवाई की जाएगी। जांच अभी जारी है।

जिला के खनिज अधिकारी शशांक शुक्ला ने कहा कि स्टोन क्रशर को बंद करवा दिया गया है। ब्लास्टिंग की कोई सूचना खनिज विभाग को नहीं दी गई थी। पुलिस विभाग के साथ मिलकर जांच कर रही है। शुरुआती जांच में यह हेवी ब्लास्टिंग जैसा लग रहा है क्योंकि बड़े पत्थर 500 मीटर दूर तक बिखरे मिले हैं इसके साथ ही एसडीएम भी जांच करेंगे। वे पता करेंगे कि किसने नेशनल हाईवे से सिर्फ 200 मीटर की दूरी पर ब्लास्टिंग की अनुमति दी और कैसे एक स्टोन क्रशिंग यूनिट की स्थापना की गई?

ये भी पढ़ें: तालिबान की कैद से डेढ़ साल बाद रिहा हुए 3 भारतीय इंजीनियर, बदले में 11 आतंकी छुड़ाए- रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here