कर्नाटक राज्य के बेलगांव जनपद में पानी का संकट लोगों का बुरा हाल, प्रशाशन बेखबर

कर्नाटक राज्य में बेलगांव जनपद जनसंख्या कि दृष्टि से बड़ा शहर है। जानकारी के मुताबिक शहर में 14 तालुका आते हैं, जिसमे हर तालुका कि स्थिति बुरी है। स्थानीय लोग बताते है कि पिछले 20 वर्षो से इतना पानी का बुरा हाल नही रहा जितना वर्तमान में है। बता दे की अभी लोक सभा का चुनाव खत्म हुआ है मतगणना शेष है। अब बात ये है कि जो अभी तक स्थानीय सांसद और विधायक ने इस समस्या में ध्यान नही दिया गया। अब आमजनमानस इस आस में है जो स्थानीय सांसद चुन कर आये ओ उनकी समस्या को सुने।

0
242

बेलगांव। कर्नाटक राज्य में बेलगांव जनपद जनसंख्या कि दृष्टि से बड़ा शहर है। जानकारी के मुताबिक शहर में 14 तालुका आते हैं, जिसमे हर तालुका कि स्थिति बुरी है। स्थानीय लोग बताते है कि पिछले 20 वर्षो से इतना पानी का बुरा हाल नही रहा जितना वर्तमान में है। बता दे की अभी लोक सभा का चुनाव खत्म हुआ है मतगणना शेष है। अब बात ये है कि जो अभी तक स्थानीय सांसद और विधायक ने इस समस्या में ध्यान नही दिया गया। अब आमजनमानस इस आस में है जो स्थानीय सांसद चुन कर आये ओ उनकी समस्या को सुने।

जिससे पानी का संकट दूर हो सके। आपको बता दे कि वेलगांव में जनपद में वेदगंगा दूधगंगा कहलाने वाली कृष्णा नदी बहती है कृष्णा नदी को बहोत ही संगम हुए नदिया है कृष्णा नदी पिछले 20 वर्ष मे कृष्णा नदी में कभी पानी कम नही हुआ, इस नदी में महाराष्ट्र से कोयना डैम से पानी आता है इस बार महाराष्ट्र सरकार ने कर्नाटक सरकार को पानी नहीं छोडा, जिससे लोगो का और बुरा हाल है। कृष्णा नदी से हर गांव गांव और शहर को पानी जाता है

इस नदि को पानि छोडने के लिये निपाणी की आमदार शशिकला जोल्ले चिकोडी के एमएलसी महांतेश कवटगीमठ और राज्यसभा सदस्य प्रभाकर कोरे दुर्योधन ऐहोळे पी राजू अण्णासाहेब जोल्ले हे सब जाकर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को मिलकर कर्नाटक मे पाणी की समस्या सुलझाने के लिए सहमति बनाई गई। कोयना डॅम में 20 टीएमसी पाणी हैं उनमें से चार टीएमसी पाणी कर्नाटक को छोटे ने के लिये विनंती की क्या इस बार कर्नाटक को देवेंद्र फडणवीस पाणी दे पाएंगे ? इस बार पानी के लिये बेळगाव जिले चिकोडी तालुका मी महिला पुरुष और बच्चों को कुवा बोर को जाकर दुरुसे दुरुसे पानी लेकर आने का समस्या आ रही हैं शहरों में पंधरा दिन में एक बार पानी आ रहा हैं

इतना सब होकर कृष्णा नदी के पास बेळगाव विजापूर रस्ता रोकर लोगों ने आंदोलन किया और डीसी आणे तक चार घंटे लोगों ने रस्ता रोखा, इस नदी को पाणी आणे तक हम इतर से जाने वाले नहीं ऐसे बोलकर डिसी को रोक दिया था किसानो ने कितने किसानों का फसल आकार सूख गया है। इतनी गर्मी हो रहे हैं लेकिन बारिश कब होगि इस चंता मे हे किसान मे महिना खंतम होने अाया अबितक बारिश नहि हुइ क्या इस बार बारिश जलदि होगि की नहीं, किसानों के फसल को दो महीने से पाणी नाही क्या इस बार कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमार स्वामी बेळगाव जिला को दुष्काळग्रस्त कर पाएंगि क्या नहि ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here